13 हजार सिक्योरिटी गार्ड… आईबी और RAW के एजेंट तैनात, अयोध्या में ऐसी रहेगी सुरक्षा व्यवस्था

2.5kViews
1536 Shares

 लखनऊ

अयोध्या में श्री राम लला के विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अवसर पर लगभग 13 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मियों का अभेद सुरक्षा घेरा होगा। एटीएस कमांडो व जवानों के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) व एंटी ड्रोन सिस्टम के जरिए उसे और पुख्ता बनाया गया है।

जमीन से लेकर आसमान और सरयू नदी के तटों पर कड़ी नजर होगी। सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी संदिग्धों की निरंतर निगरानी होगी। आईबी व रॉ के अधिकारियों ने भी अयोध्या में डेरा डाल रखा है और कई स्तर पर सुरक्षा प्रबंधों की निरंतर समीक्षा की जा ही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अत्याधुनिक तकनीक के सहयोग से चप्पे-चप्पे पर नजर रखे जाने का कड़ा निर्देश दिया है। सरयू नदी व उसके घाटों पर एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के जवान मुस्तैद कर दिए गए हैं। अयोध्या में मेहमानों की सुरक्षा के लिए बार कोडिंग का प्रयोग भी किया जा रहा है।

आईजी अयोध्या रेंज प्रवीण कुमार के अनुसार, अयोध्या को रेड व येलो जोन में बांटकर सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित कराए गए हैं। अन्य जिलों के 100 से अधिक पुलिस उपाधीक्षक, लगभग 325 निरीक्षकों व 800 उपनिरीक्षकों को अयोध्या में तैनात किया गया है।

मुख्य समारोह से पहले पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 11,000 जवान तैनात होंगे। वीआईपी सुरक्षा के लिए तीन डीआईजी, 17 एसपी, 40 अपर पुलिस अधीक्षक, 82 पुलिस उपाधीक्षक, 90 निरीक्षक, एक हजार से अधिक आरक्षी व चार कंपनी पीएसी तैनात की गई है। और पुलिस बल भी बढ़ाया जा रहा है।

रेल सुरक्षा के लिए भी विशेष प्रबंध किए गए हैं। जीआरपी में अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती भी की गई है। अतिथियों के साथ व्यवहार को लेकर पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। 250 पुलिस गाइड भी तैनात किए गए हैं।

सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से पूरे शहर की निगरानी की जा रही है। निजी प्रतिष्ठानों व मकानों में लगे 1500 सीसीटीवी कैमरे आइटीएमएस (इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंंट सिस्टम) से जोड़े गए हैं। यलो जोन में 10,715 स्थानों पर संदिग्धों की पहचान के लिए एआई आधारित बड़ी स्क्रीन लगाई गई हैं, जो आईटीएमएस से जुड़ी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here