आगरा में दोहरे हत्याकांड की गुत्थी उलझी, लूट के लिए नहीं की गई मां-बेटी हत्या, घर में रखे मिले 22 लाख रुपये

- Advertisement -

आगरा
आगरा के पास बाह के मोहल्ला कल्याण सागर के दोहरे हत्याकांड में शनिवार को नया मोड़ आ गया। जूता कारोबारी की पत्नी व बेटी की हत्या लूटपाट के लिए नहीं की गई थी। हत्यारे दोनों को जान से मारने के इरादे से ही आए थे। व्यापारी ने पुलिस को बदमाशों द्वारा 22 लाख रुपये लूटकर ले जाने की बताया था। शनिवार को पूरी रकम मां-बेटी के कमरे में पलंग के अंदर रखी मिल गई है। जिसने पुलिस को दोबारा उलझा दिया है, उसकी जांच की दिशा भी अब बदल गई है। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि दोहरे हत्याकांड में नई जानकारी सामने आने के बाद पुलिस हर पहलू से जांच में जुट गई है।
मोहल्ला कल्याण सागर में नौ मार्च की रात को जूता कारोबारी उमेश पैंगोरिया की पत्नी कुसुमा व उनकी बेटी सरिता की हत्या कर दी गई थी। बदमाशों ने दोनों को तकिया से मुंह दबाकर मारा था। सरिता के दस वर्षीय बेटे अंकुश ने पलंब के नीचे छिपकर अपनी जान बचाई थी। व्यापारी ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अपना प्लाट बेचा था। जिससे मिले 22 लाख रुपये घर में ही रखे थे। बदमाश उनकी पत्नी-बेटी की हत्या यह रकम और जेवरात लूट ले गए। व्यापारी के बयान के आधार पर पुलिस इसे लूट के लिए हत्या मान रही थी।

एसएसपी सुधीर कुमार सिंह के अनुसार पुलिस टीम शनिवार को व्यापारी के घर पर जांच करने गई थी। वहां उसे पता चला कि 22 लाख रुपये पलंग में रखे हुए मिले हैं। अलमारी में रखे डेढ़ लाख रुपये व जेवरात भी सुरक्षित मिले। मामले पुलिस के पूछताछ करने पर व्यापारी का कहना है कि उसे नहीं मालूम कि ये रकम पलंग छिपाकर में रखी हुई थी।पुलिस ने रकम को लिखापढ़ी में जब्त कर लिया है। शनिवार को रकम बरामद होने के बाद दोहरे हत्याकांड की गुत्थी उलझ गई है। पुलिस अब तक लूटपाट और हत्या करने वाले बदमाशों का जानकारी जुटा रही थी। मगर, अब वह हत्याकांड की दूसरे पहलुओं से जांच करने में जुट गई है। एसएसपी के अनुसार एक टीम को सरिता की ससुराल अंबाह भी पूछताछ के लिए भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here