आदर्श आचार संहिता का फेर, आगरा में वित्तीय साल के अंतिम माह में अटके तमाम विकास कार्य

705Views

आगरा
इस वित्तीय साल में आदर्श आचार संहिता का डंडा चलेगा। विधानसभा चुनाव-2022 की आदर्श आचार संहिता लागू है। यह दस मार्च तक रहेगी। इसके चलते 80 करोड़ रुपये के विकास कार्य रुके हुए हैं। 15 मार्च से एमएलसी लोकल बाडी का चुनाव शुरू होगा। ऐसे में फिर से आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी। यह 12 अप्रैल तक रहेगी। इससे 31 मार्च तक जो भी विकास कार्य होने हैं, वह पूरे नहीं हो सकेंगे।
समाज कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक विभाग, विकलांग कल्याण सहित अन्य कई विभागों में मार्च में सबसे अधिक बजट आता है। इस साल जो भी बजट आएगा। उसमें से अधिक को सरेंडर करना होगा।

निगम प्रशासन द्वारा 60 करोड़ रुपये से विकास कार्य कराए जाते हैं। साल के अंतिम सप्ताह में सबसे अधिक कार्य होते हैं। आदर्श आचार संहिता के चलते 10 से 20 करोड़ रुपये के टेंडर नहीं हो सकते हैं जबकि 16 करोड़ रुपये के कार्य के टेंडर होने के बाद रुक गए हैं।

प्रांतीय खंड और खंड दो द्वारा दो हजार करोड़ रुपये से रोड बनाई जाती हैं। यह शहरी और देहात क्षेत्र की हैं। 5 से 7 करोड़ रुपये के कार्य प्रभावित हैं।

पांच से सात करोड़ रुपये के विकास कार्य रुके हुए हैं। इसमें दो करोड़ रुपये के टेंडर भी शामिल हैं। जबकि 100 संपत्तियां भी हैं। जिनका विज्ञापन जल्द निकलने जा रहा है।

हर साल विभाग द्वारा करोड़ों रुपये से विकास कार्य कराए जाते हैं। पांच करोड़ रुपये के कार्य रुके हुए हैं।

देवरी गांव से ग्वालियर रोड तक तीसरे चरण की रोड बन रही है। यह 400 करोड़ रुपये से बन रही है। तीसरे चरण की रोड बनने से इनर रिंग रोड पूरी हो जाएगी।

एनएचएआइ आगरा खंड द्वारा 800 करोड़ रुपये से उत्तरी बाइपास बनाई जा रही है। यह रोड नेशनल हाईवे-19 को यमुना एक्सप्रसे वे से होते हुए अलीगढ़ रोड से कनेक्ट करेगा।

शहर में मेट्रो 30 किमी लंबी होगी। इसकी लागत 8369 करोड़ रुपये खर्च होंगे। वहीं नेशनल हाईवे-19 पर आदर्श आचार संहिता का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

– नगर निगम प्रशासन द्वारा इस वित्तीय साल में 70 करोड़ रुपये की हाउस टैक्स की वसूली का लक्ष्य रखा गया है। अभी तक 40 करोड़ रुपये की वसूली हुई है।

– सौ वार्डों में कुल 3.15 लाख आवासीय और 35 हजार व्यावसायिक भवन हैं।

– जल संस्थान द्वारा वाटर और सीवर टैक्स की वसूली की जा रही है। अब तक 50 करोड़ रुपये की वसूली हो चुकी है।

– एडीए द्वारा कंपाउंडिंग सहित अन्य से अब तक 15 करोड़ रुपये का राजस्व मिला है।

– विधानसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता दस मार्च को खत्म हो जाएगी जबकि 15 मार्च से एमएलसी लोकल बाडी का चुनाव शुरू होगा। ऐसे में 12 अप्रैल तक आदर्श आचार संहिता लागू रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here