मेरा अपना शहर आगरा…

- Advertisement -

आज हम आपको रूबरू करवाने जा रहे है भारत के एक ऐसे शहर से जो भारत ही नही बल्कि विश्व के सिर का ताज है
यमुना नदी के तट पर बसा यह सुंदर नगर अपने आप मे मनमोहक है
समुद्र तल से 171 मीटर की ऊँचाई पर स्तिथ आगरा में 19 लाख से अधिक लोग निवास करते है देश की राजधानी से महज 200 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथि ताज़ नगरी पहुंचने के लिए 24 घण्टे साधन उपलब्ध है

अब बात करते है आगरा के इतिहास की

आगरा एक ऐतिहासिक नगर है, जिसके प्रमाण यह अपने चारों ओर समेटे हुए है। वैसे तो आगरा का इतिहास मुख्य रूप से मुगल काल से जाना जाता है लेकिन इसका सम्बन्ध महर्षि अन्गिरा से है जो १००० वर्ष ईसा पूर्व हुए थे। इतिहास में पहला ज़िक्र आगरा का महाभारत के समय से माना जाता है, जब इसे अग्रबाण या अग्रवन के नाम से संबोधित किया जाता था। कहते हैं कि पहले यह नगर आयॅग्रह के नाम से भी जाना जाता था। तौलमी पहला ज्ञात व्यक्ति था जिसने इसे आगरा नाम से संबोधित किया।

आगरा की स्थापना 1475 ई में बादल सिंह ने की थी। वर्ष 1506 में, सिकंदर लोदी ने आगरा में दिल्ली सल्तनत का शासन शुरू किया था। सिकंदर लोदी की मौत ने बाद बेटे इब्राहिम लोदी को 1526 में सिंहासन पर बैठने का मौका मिला था । एक बार लोधीयों की राजधानी, आगरा पर बाबरी द्वारा लोधी को परास्त करने के बाद कब्जा कर लिया गया। इस प्रकार मुगल शासन का एक लंबा शासन शहर में शुरू हुआ। पानीपत की पहली लड़ाई के बाद आगरा मुगल साम्राज्य के लिए एक प्रमुख शहर बन गया।
आगरा के समृद्ध ऐतिहासिक तथ्यों को स्पष्ट रूप से बड़ी संख्या में ऐतिहासिक स्मारकों से स्पष्ट रूप से दर्शाया गया है जो कि शहर में व्याप्त है। मुगल वंश ने ताज महल, आगरा किले, फतेहपुर सीकरी और कई अन्य जैसे शानदार स्मारकों और इमारतों की स्थापना के लिए बेहद योगदान दिया। अकबर, जहांगीर और शाहजहां जैसे मुगल राजाओं के शासनकाल में, आगरा का इतिहास अपनी शानदार चरम पर पहुंच गया। यह अकबर था जिसने शहर को कला, संस्कृति, शिक्षा और वाणिज्य के आसन के रूप में विकसित किया। औरंगजेब की मृत्यु के साथ, मुगल शासन भी समाप्त हुआ। इसके बाद शहर में कई क्षेत्रीय राज्यों के उद्भव के बाद किया गया। मुगल काल के बाद, आगरा शहर मराठों, जाटों और ब्रिटिशों द्वारा शासित था

वर्तमान में आगरा विश्व के कुछ प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों के साथ शहर के रूप में आता है। नई दिल्ली से 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होने के नाते, आगरा एक अमीर पारंपरिक पृष्ठभूमि और दिलचस्प धार्मिक पहलुओं के साथ साथ एक आकर्षक शहर है जो शहर को और अधिक दिलचस्प बनाता है। तीन यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों को आगरा शहर में जगह मिलती है। ये ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here