उपमुख्यमंत्री के निरीक्षण के बाद का हाल: जिला अस्पताल में मरीज को गोद में उठाकर ले गए तीमारदार, न स्ट्रेचर मिला न वार्ड ब्वाय

1.0kViews

आगरा

आगरा के जिला अस्पताल में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद के निरीक्षण के एक दिन बाद शुक्रवार को हालात फिर बदले दिखे। मरीजों को न स्ट्रेचर मिले न वार्ड ब्वाय, मजबूरन तीमारदार उन्हें गोद में लेकर जांच के लिए गए। दवा के इंतजार में तो एक महिला अपने मासूम बच्चे के साथ घंटे भर से ज्यादा समय तक बैठी रही। यह हालात तब है जब उपमुख्यमंत्री शुक्रवार को भी शहर में थे। हालांकि बृहस्पतिवार को निरीक्षण में यहां उपमुख्यमंत्री को सब चकाचक दिखाया गया था।

बृहस्पतिवार को उपमुख्यमंत्री को निरीक्षण में गुड फील कराने के लिए जिला अस्पताल में जगह-जगह व्हील चेयर व स्ट्रेचर रखे गए थे। स्ट्रेचर पर नई चादरें पड़ी थीं। उनके पास स्टाफ भी बैठाया गया था, जबकि शाम को ओपीडी बंद हो चुकी थी। शुक्रवार को नजारा पूरी तरह बदला दिखा।

जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक  डॉ. अशोक अग्रवाल ने कहा कि ओपीडी, इमरजेंसी सभी जगहों पर स्ट्रेचर व व्हील चेयर रखवाए गए हैं। जिला अस्पताल में वार्ड ब्वाय की कमी है। सभी जगहों पर उनकी उपलब्धता नहीं है। तीमारदारों के स्ट्रेचर के इस्तेमाल पर रोक नहीं है। टीबी की दवा सीएमओ कार्यालय के डीटीओ की ओर से उपलब्ध कराई जाती है। जिला अस्पताल की ओर से बस कमरा उपलब्ध कराया गया था। डीटीओ के स्टाफ को सुबह 11 बजे फोन मिलवाया गया, उन्होंने बताया कि सीएमओ कार्यालय की ओर से फील्ड में भेजा गया है।

ओपीडी के दौरान भी मरीजों को स्ट्रेचर व व्हीलचेयर पर ले जाने वाला कोई नहीं था। बुजुर्ग महिला के पैर में प्लास्टर लगवाने के बाद तीमारदार गोद में उठाकर बाहर ले गए। नगला पदी की रहने वाली महिला अपने आठ वर्ष के बच्चे को लेकर टीबी की दवा लेने जिला अस्पताल पहुंची थी। कक्ष संख्या 45 में दवा मिलती है, उसमें ताला बंद था। घंटे भर से ज्यादा समय तक इंतजार करने के बाद भी कोई नहीं आया। ओपीडी के गेट पर हेल्प डेस्क पर भी कोई व्यवस्था नहीं थी। मरीजों व तीमारदारों की थर्मल स्कैनिंग नहीं की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here