बहुजन द्रविड पार्टी की एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया।

1.5kViews

आगरा

प्रिय बहुजन द्रविड भाइयो और बहनो,

आज दिनांक 3 अप्रैल, 2022 (रविवार) को समय दोपहर 12:00 बजे से सेण्ट जूलियस जूनियर हाईस्कूल, शाहदरा; आगरा (उ.प्र.) में बहुजन द्रविड पार्टी की एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया।

इस बैठक की अध्यक्षता प्रदेश उपाध्यक्ष मा. कमल सिंह लोधी जी ने की। मुख्य अतिथि के तौर पर राष्ट्रीय महासचिव मा. दिनेश कुमार गौतम तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व पार्षद (बीएसपी) मा. राजबीर सिंह बघेल जी उपस्थित हुए तथा बैठक का संचालन मा. अनिल मौर्य जी ने किया।

सर्वप्रथम बाबासाहेब डॉ. बी. आर. अम्बेडकर जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर इस बैठक की औपचारिक शुरुआत की गई।

तदोपरांत पार्टी महासचिव मा. दिनेश कुमार गौतम जी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “साथियो, आज बहुजन समाज (एससी/एसटी, ओबीसी और धार्मिक अल्पसंख्यक समाज) के जो सामाजिक-राजनीतिक हालात हैं उनसे आप सभी लोग अवगत ही हैं। हम सबके संयुक्त प्रयासों और अथक परिश्रम से खड़ी की गई ‘बहुजन समाज पार्टी’ आज राजनीतिक शून्य पर पहुंच चुकी है तथा जिस मजबूत वैचारिक आधार पर बीएसपी का निर्माण हुआ था; मान्यवर कांशीराम जी की मृत्यु के बाद उनकी तथाकथित शिष्या ने उस वैचारिक आधार को भी दरकिनार कर दिया है। यानी वहां अब न बहुजन मिशन बचा और न ही राजनीतिक मजबूती।

इसके अलावा भी, बहुजन समाज की राजनीति और बहुजन मिशन की बात करने वाली जो अन्य राजनीतिक पार्टियां हैं, उनमें से कुछ तो ब्राह्मणों को विदेशी साबित करने में ही समाज के सारे साधन संसाधन खत्म करने पर उतारू हैं और कुछ लोग दलितों पर होने वाले जातिगत अन्याय-अत्याचार पर आधारित घटनाओं को मुद्दा बनाकर आंदोलन करते रहने मात्र को ही बहुजन मिशन समझते हैं।

कुल मिलाकर इन राजनीतिक पार्टियों में भी बहुजन महापुरुषों की वैचारिकी पर आधारित सामाजिक-राजनीतिक कार्रवाई का बेहद अभाव है।

जबकि मान्यवर कांशीराम साहब का स्पष्ट मानना था कि, “इस देश में जाति के आधार पर रोजाना सैकड़ों अन्याय-अत्याचार होते हैं, ऐसी स्थिति में हम कहाँ-कहाँ जाएंगे। एक जगह विरोध प्रदर्शन कर रहे होंगे, उसी समय दूसरी जगह और कई जातिगत घटनाएं घटित हो जाएंगी। अंततः वे इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि जब तक बहुजन समाज की सवर्णों पर निर्भरता समाप्त नहीं होगी तब तक जातिगत अन्याय अत्याचार कम नहीं होंगे।”

इसलिए उन्होंने “सामाजिक परिवर्तन और बहुजन समाज की आर्थिक मुक्ति” का नारा दिया और हजारों जातियों में बंटे बहुजन समाज को इकट्ठा कर उसे शासक जमात बनने का आह्वान किया।

इसलिए आज बहुजन समाज को अगर अपने हक-अधिकार प्राप्त कर अपनी तरक्की सुनिश्चित करनी है, तो उसका एकमात्र रास्ता मान्यवर कांशीराम साहब का बहुजन दर्शन ही है। इस दर्शन पर आधारित बहुजन राजनीति का पुनरूत्थान और पुनर्स्थापना ही बहुजन समाज की तमाम समस्याओं का समाधान है।

बहुजन द्रविड पार्टी अपनी स्थापना के बाद से राष्ट्रीय स्तर पर मान्यवर कांशीराम साहब के इस बहुजन दर्शन पर आधारित राजनीति की पुनर्स्थापना में प्रयासरत है। इसलिए मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कहता हूं कि आज बहुजन द्रविड पार्टी ही बहुजन द्रविड समाज का एकमात्र वास्तविक राजनीतिक विकल्प है।

मैं आप लोगों से अपील करता हूँ कि आप लोग भी इस बहुजन मिशन में शरीक होकर मान्यवर कांशीराम साहब के बहुजन दर्शन को आगे बढ़ाने में अपना सहयोग करें। क्योंकि बहुजन समाज की मुक्ति का यही एकमात्र मुकम्मल रास्ता है। इसी आशा और उम्मीद के साथ मैं अपनी बात समाप्त करता हूँ।” धन्यवाद!

तत्पश्चात प्रदेश उपाध्यक्ष मा. कमल सिंह लोधी और पूर्व पार्षद मा. राजबीर सिंह बघेल जी ने भी अपने विचार व्याप्त किए।

बैठक के उपरांत पिछली बैठक की पूर्व सूचना के अनुसार, सभी लोगों द्वारा अपने-अपने घरों से लाये गए भोजन को इकट्ठा कर बैठक स्थल पर ही सामूहिक बहुजन भोज किया गया। तदोपरांत सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि पार्टी की आर्थिक मजबूती हेतु अगली मीटिंगों से मान्यवर कांशीराम साहब के एक नोट – एक वोट अभियान के तहत सबसे आर्थिक सहयोग और चुनावों के समय एक वोट देने का अभियान भी शुरू किया जाएगा।

इस बैठक में मुख्य रूप से सर्वमान्य सुर्जन सिंह, प्रदीप कुमार, गोविन्द प्रसाद, सुरेन्द्र सिंह बौद्ध, रिंकू सागर, राजेश सागर, डॉ. वी.पी. सिंह, एस.सी. विटतौलिया, संजय कुमार, नेपाल सिंह, विशम्बर सिंह, केदार सिंह, सतीश गौतम, नित्य प्रकाश सोनी, जितेन्द्र सागर, विनोद अटल, लाखन सिंह, विनोद कुमार, देवेन्द्र सिंह आदि मिशनरी साथी उपस्थित रहे।

मा. कांशीराम मिशन में..

अशोक कुमार साकेत
राष्ट्रीय प्रवक्ता
बहुजन द्रविड पार्टी, नई दिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here