Yogi Government 2.0: ताजनगरी के हिस्से में कितने ‘ताज’, पता चलेगा आज, नई योगी सरकार में कौन बनेगा मंत्री, तस्‍वीर होगी साफ

- Advertisement -

आगरा

आगरा जिले की सभी नौ सीट पर फिर से कमल खिला है, जिसके बाद हर विधानसभा क्षेत्र के भाजपाइयों को मंत्री पद की आस है। कुछ विधायक तो प्रयास में परिणाम आने के बाद से जुट गए हैं। उन्होंने दिल्ली पहुंच बनाई है और लखनऊ में डेरा डाल दिया है। कुछ आगरा में ही रहकर नेतृत्व के निर्देश का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार को दोपहर बाद शपथ ग्रहण समारोह होना है। ऐसे में सभी की निगाहें सूची पर टिकी हुई है। पूर्व राज्यपाल एवं पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बेबीरानी मौर्य का नाम बड़े पदों के लिए चल रहा है, तो कई दूसरे नाम भी मजबूत दावेदारी में है। ताजनगरी के हिस्से में कितने ताज आएंगे कार्यकर्ता से लेकर समर्थक ये जानने को बेचैन हैं।

गत मंत्रीमंडल में आगरा के दो विधायक को राज्यमंत्री के रूप में स्थान मिला था। राज्यमंत्री डा. जीएस धर्मेश वहीं विस्तार में विधान परिषद सदस्य धर्मवीर प्रजापति को भी मंत्री पद मिला था। आगरा छावनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक डा. जीएस धर्मेश ने जीत दर्ज कर फिर से दावेदार हैं, तो राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह को आयु सीमा के कारण टिकट नहीं दिया गया था। डा. धर्मेश की स्वजाति (अनुसूचित जाति) की बेबीरानी मौर्य आगरा ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज कर दौड़ में सबसे आगे चल रही है। उनका नाम डिप्टी सीएम और विधानसभा अध्यक्ष के पद को लेकर चर्चा में है, जबकि कोई कैबिनेट की सूची में उनका नाम होने का दावा कर रहा है।

उत्तर विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव में कमल खिलाने वाले विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल वैश्य समाज के प्रतिनिधि के रूप में प्रबल दावेदार हैं। उन्होंने 1.12 लाख वोट पाकर सूबे में बड़ी जीत में पांचवें स्थान पर हैं, तो जनसंघ कार्यकाल से लंबी संगठनात्मक सेवा के कारण मजबूती से खड़े हैं। लगातार तीसरी बार विधानसभा पहुंचने वाले योगेंद्र उपाध्याय ने हर बार जीत का आंकड़ा बढ़ाकर दावेदारी को मजबूत किया है। गत मंत्रीमंडल से उनका नाम मजबूती से था, तो स्थान नहीं मिल पाने के बाद उन्हें मुख्य सचेतक बनाया गया था। विद्यार्थी परिषद से राजनीतिक शुरुआत करने के कारण उनकी दावेदारी मजबूत है। पूर्व राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह के स्थान पर फतेहपुर सीकरी से कमल खिलाने वाले चौधरी बाबूलाल भी जातिगत आंकड़ों के अनुसार मजबूत दावेदार है। वे जाट समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं, तो पूर्व में मंत्री और सांसद भी रह चुके हैं। बाह विधायक पक्षालिका सिंह भी गत मंत्रीमंडल में शामिल की सूची में चर्चा में रही थी। वहीं आंतरिक विरोध के बाद भी दूसरी बार जीत दर्ज कर वे फिर से मजबूत दावेदारों में हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here