आजमगढ़ थाना दीदारगंज में गोवाईं में महिला एवं उसकी नातिन की हत्या के मामले में पुलिस से मुठभेड़ में मुख्य अभियुक्त हुआ घायल

- Advertisement -

आजमगढ़ थाना दीदारगंज में गोवाईं में महिला एवं उसकी नातिन की हत्या के मामले में पुलिस से मुठभेड़ में मुख्य अभियुक्त हुआ घायल

आजमगढ़ थाना दीदारगंज में गोवाईं में महिला एवं उसकी नातिन की हत्या के मामले में पुलिस से मुठभेड़ में मुख्य अभियुक्त घायल हुआ है। उसके कब्जे से लूटे गए 9.64 लाख नकद, कई जेवरात, घटना में प्रयुक्त आला कत्ल व असलहा बरामद हुआ है। जघन्य हत्याकाण्ड से जनमानस में काफी आक्रोश था। जिसका पुलिस टीम ने 35 घंटे में खुलासा कर अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। एडीजी जोन वाराणसी द्वारा 50,000 रुपये व डीआईजी परिक्षेत्र आजमगढ़ द्वारा 50,000 रुपये तथा पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ द्वारा 25,000 रुपये से घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत किया गया।

घटना के बाद मामले में वादी शिवशंकर गुप्ता पुत्र मुन्नीलाल गुप्ता ने तहरीर दी थी उसकी भयहू लीलावती उम्र करीब 50 वर्ष व नतिनी आंचल उम्र करीब 13 वर्ष की अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या की गई है। मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस को सूत्रो से सूचना प्राप्त हुई कि डबल मर्डर से सम्बन्धित एक व्यक्ति अरनौला के साधन की तलाश में खड़ा है। इस सूचना पर पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए अरनौला के पास से एक व्यक्ति को पुलिस हिरासत में लिया गया। अपना नाम चन्द्रजीत चौहान पुत्र लालधारी चौहान ग्राम गुवाई थाना दीदारगंज बताया। उसकी जामा तलाशी लेने पर उसके जेब से 74 हजार रूपया व एक मोबाइल बरामद हुआ। गहनता से पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूला और बताया कि शेष पैसा व आला कत्ल पहन्सूल अमृतगंज बाजार में अपने खेत में छिपाया है। पुलिस द्वारा अमृतगंज बाजार के पास स्थित खेत से घटना के दिन पहने हुए खून सने कपड़े में आठ लाख नब्बे हजार चार सौ रूपये, एक जीन्स का पैन्ट, जूता व सफेद बनियान व आला कत्ल पहन्सूल बरामद किया गया। अभियुक्त को थाने लाकर विस्तृत पूछताछ पर उसके द्वारा बताया गया कि उसे पैसे की सख्त जरूरत थी। गांव में यह चर्चा थी कि मृतका लीलावती जमीन लिखाने के लिये प्रयास में थी और उसके लिये पैसा इक्कठा करके घऱ में लाकर रखी है। 12.03.22 की रात्रि में करीब 8.30 बजे मृतका के घर का चैनल खुला हुआ था तो मैं चुपके से घऱ में घुसकर बरामदे में रखे तख्ते के नीचे छुप गया। रात में मृतका व उसकी नातिनी चैनल में ताला बन्द करके सो गयी। मैं वही छिपा रहा। रात में मृतका लीलावती बाथरूम करने उठी तब मैने उसके सिर पर लोहे के पाइप से वार कर दिया। उसकी हत्या के बाद नतिनी की भी हत्या की। जल्दी जल्दी बक्से की चाबी की खोज की गयी तथा बीस्तर पर तकिये के नीचे रखी चाबी को लेकर कमरे में रखे बक्से का ताला खोला गया जिसमें पैसे व जेवर मुझे मिले थे। पैसे व जेवर एक झोले में रख कर मैं छत पर पहुचकर, छत से लगे अमरूद्व के पेड़ के सहारे उतरकर वहा से भाग गया। जेवर व आला कत्ल पाइप बैरकडीह तालाब के पास छिपाया हूं। पुलिस टीम मौके पर बरामदगी हेतु पहुची तो अभियुक्त द्वारा जेवर व आलाकत्ल पाइप देते हुए वहा पर पूर्व से छिपाये तमंचे को एकाएक उठाकर पुलिस पार्टी पर भागते हुए चार फायर किया गया। पुलिस द्वारा भी आत्मरक्षार्थ किये गये न्यूनतम फायर से अभियुक्त के बाये घुटने में गोली लगी तथा पुलिस द्वारा उसे कब्जे में लिया गया। इलाज हेतु अभियुक्त को अस्पताल लाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here