अखिलेश यादव ने करहल की सीट छोड़ी तो कौन होगा प्रत्याशी? सपा के सामने बड़ा सवाल

- Advertisement -

आगरा
सत्ता पाने की जंग हारने के बावजूद सपा मुखिया अखिलेश यादव मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा सीट पर बड़ी जीत हासिल करने के कामयाब रहे। पर नतीजों के बाद उनके विधायक या सांसद बने रहने को लेकर कयासों का दौर चल रहा है।

जिले में, खासकर करहल क्षेत्र के लोग चर्चाओं में लगे हैं कि अखिलेश यादव आजमगढ़ से सांसद रहेंगे या फिर करहल से विधायक। हालांकि विधायकी छोड़ने की चर्चाएं ज्यादा हैं। इसके साथ यह सवाल भी उठ रहा है कि उनकी जगह सपा से चुनाव कौन लड़ेगा। इनमें रामगोविंद चौधरी से लेकर सैफई परिवार के सदस्यों के नाम भी उछल रहे हैं।
मैनपुरी की करहल सीट से अपना पहला विधानसभा चुनाव लड़ने वाले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री प्रो. एसपी बघेल को 66782 वोटों के अंतर से पराजित किया है। अखिलेश यादव आजमगढ़ से सांसद भी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि सपा मुखिया करहल विधानसभा सीट छोड़ेंगे।

सांसद रहकर वह राष्ट्रीय राजनीति में अपनी भूमिका अदा कर सकेंगे। कयास लग रहे हैं कि करहल सीट पर पूर्व विधायक सोबरन सिंह यादव या सैफई परिवार के किसी सदस्य को लड़ाया जाएगा। सोबरन सिंह चार बार के विधायक हैं और 2007, 2012 और 2017 में वह सपा की टिकट पर लगातार विधायक बने थे। उन्होंने ही अखिलेश यादव से पहले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी करहल सीट का चुनने का अनुरोध किया था। ऐसे में उनको प्रत्याशी बनाने की संभावनाएं प्रबल बताई जा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here