लालू को 2 बड़ी चोट दे गए नीतीश कुमार, क्या संभल पाएंगे राजद सुप्रीमो? सियासी घमासान तय

- Advertisement -

पूर्णिया

एनडीए प्रत्याशी के समर्थन में शनिवार को पूर्णिया के बनमनखी और कटिहार के कदवा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव को 2 बड़ी चोट दे गए। ऐसी चोट कि जिसकी लालू को कभी उम्मीद नहीं थी। पहला मुस्लिम वोटरों को लेकर फिर दूसरा उन्होंने परिवारवाद पर हमला करके लालू यादव को बुरी तरह घेरा। यहां तक कि चारों बेटे-बेटियों को भी नहीं छोड़ा।

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि आरजेडी ने अपने 15 वर्षों के कार्यकाल में मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया। एनडीए की सरकार क्रबिस्तानों की घेराबंदी के साथ सरकारी सहायता प्राप्त मदरसा को भी सरकारी स्कूलों की तरह सुविधा दे रही है। शिक्षा क्षेत्र में विकास के कारण मुस्लिम लड़कियों का भी पढ़ाई की ओर रूझान हुआ है।

कदवा विधानसभा क्षेत्र के डंडखोरा स्थित डुमरिया के सदानंद उच्च विद्यालय के मैदान में एनडीए के जदयू प्रत्याशी दुलालचंद्र गोस्वामी के समर्थन में चुनावी सभा करने पहुंचे नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव पर तंज कसा। कहा, लालू को इतने बच्चे पैदा नहीं करने चाहिए।

नीतीश कुमार इतने आक्रामक हो गए कि जिस जंगलराज शब्द का उन्होंने कभी प्रयोग नहीं किया था, उस शब्द को भी उन्होंने बीच जनसभा में कह डाला।

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि वे परिवारवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि एनडीए इस बार 400 का आंकड़ा पार करेगी। वहीं, पूर्णया के बनमनखी सुमरित उच्च विद्यालय के मैदान में नीतीश ने एनडीए प्रत्याशी संतोष कुशवाहा के लिए वोट मांगा। केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए प्रत्याशी को विजयी बनाने की अपील की।

मुख्यमंत्री ने कहा, 2005 से हमें मौका मिला है, तब से बिहार के विकास के लिए काम कर रहे हैं। हमसे पहले का राज याद है ना, कोई शाम में नहीं निकलता था। पति-पत्नी का राज था, खुद हटे तो पत्नी को सत्ता दे दी। कहीं आने जाने का रास्ता नहीं था। अब चारों बेटा-बेटी को लगा दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम लोग सांसद भी थे और केंद्र में मंत्री भी थे और अपने क्षेत्र में जाते थे, तो पैदल ही चलते थे। क्या हालत थे, उनलोगों के जमाने में। जीविका योजना की प्रशांसा करते हुए कहा, पहले महिलाएं कपड़े पहन नहीं घूम पाती थीं, अब बढ़िया कपड़ा पहनती हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि पहले लड़कियों की शिक्षा की हालत खराब थी। प्रजनन दर अधिक था, लेकिन जब लड़कियां पढ़ती हैं तो प्रजनन दर घटता है। बिहार में भी ये घटा है। लड़कियों के लिए पोशाक और साइकिल दी। बाद में लड़कों को भी इसका लाभ दिया। हम नई पीढ़ी के लोग जो यहां बैठे हैं, उनसे कहेंगे कि जंगल राज को याद करिए।

कहा, लालू परिवार पर हमला करते हुए बोले, हमने तो बीच में मौका दिया था। अब हमारे काम को बेटा अपना काम बता रहा। दो बार हम इधर-उधर हुए हैं, लेकिन अब कहीं नहीं जाएंगे। देश का विकास प्रधानमंत्री कर रहे हैं और बिहार का विकास हम कर रहे हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में 40 सीटें हम लोग जीतेंगे। तीसरी बार नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है। वोटरों को आगाह करते हुए कहा कि किसी के बहकावे में नहीं आए। हमने पूरा काम किया है और आगे भी काम करते रहेंगे। पूर्णिया में मंत्री डा. दिलीप जयसवाल और कटिहार में राज्यसभा सदस्य संजय झा और जदयू नेता अशफाक करीम आदि मौजूद थे।

नीतीश कुमार ने बीमा भारती पर बिना नाम लिए इशारे-इशारे में हमला बोलते हुए कहा की एक महिला थी जिसको हम एक बार मंत्री भी बनाए थे। बार-बार कह रही थी हमको मंत्री बनाईये-मंत्री बनाइये। हम बोले अभी मंत्री नहीं बना पाएंगे अभी कोई उपाय नहीं है। वह आजकल भागकर आरजेडी में चली गई।

नीतीश ने कहा कि राज्य सरकार सभी जाति व धर्म के लिए काम कर रही है। 60 वर्ष से अधिक पुराने मंदिरों की घेराबंदी कराई जा रही है। जीविका के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। बिहार में स्वयं सहायता समूह व जीविका दीदी के कार्यों की प्रशंसा विदेशों में भी हुई।

बिहार राज्य मदरसा बोर्ड का पूर्णिया में क्षेत्रीय कार्यालय खोला गया है। पूर्णिया में मेडिकल कालेज, पारा मेडिकल कालेज संस्थान, एएनएम, जीएनएम स्थापना की गई है। पूर्णिया में तो अब बहुत जल्द हवाई अड्डा भी बनकर तैयार हो जाएगा।

मधेपुरा : अपने प्रत्याशियों व एनडीए की जीत सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार की शाम बाबा सिंहेश्वर नाथ से प्रार्थना की। सिंहेश्वर स्थान मंदिर में बाबा का जलाभिषेक किया। मुख्यमंत्री अक्सर मधेपुरा में रहने के दौरान बिना पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के भी बाबा का दर्शन करने व जलाभिषेक करने आते रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here