Kapil Dev के इन 3 विवादित बयानों से दहल गया भारतीय क्रिकेट, युवाओं को घमंडी तक करार दिया

3.9kViews
1989 Shares

नई दिल्ली

भारतीय टीम को पहली बार विश्व कप चैंपियन बनाने वाले पूर्व कप्तान कपिल देव अक्सर विवादित बयानबाजी करते हुए नजर आते है। 6 जनवरी 1959 को चंडीगढ़ में जन्मे ने अपनी कप्तानी में टीम इंडिया के लिए ऐसा कर दिखाया जिसकी आज भी मिसाल दी जाती है। बता दें कि कपिल देव ने टीम इंडिया को लेकर कई ऐसे विवादित बयान दिए है जिसकी वजह से जमकर बवाल मचा। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से

कपिल देव (Kapil Dev) ने CRED को दिए एक इंटरव्यू में मास्टर क्लास सीरीज के दौरान अपने तेज गेंदबाज बनने के पीछे का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि उनका मकसद एक सीनियर क्रिकेटर की बात को गलत ठहराना था, जिन्होंने कपिल देव को लेकर कहा था कि वह तेज गेंदबाज नहीं बन सकते है।

कपिल देव न सिर्फ तेज गेंदबाज बने, बल्कि उन्होंने इंटरनेशनल लेवल पर 1994 में अधिकतम विकेट लेकर टेस्ट क्रिकेट में तहलका मचाया। उनका ये रिकॉर्ड 6 साल बाद वेस्टइंडीज के दिग्गज कोर्टनी वॉल्श ने तोड़ा था। कपिल देव के इस विवादित बयान पर काफी बवाल मचा था।

2. टीम इंडिया के टी-20 विश्व कप 2022 और एशिया कप में करारी शिकस्त मिलने के बाद भारतीय पूर्व कप्तान कपिल देव ने एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने खिलाड़ियों के आईपीएल खेलने और वर्कलोड को लेकर कहा था कि आईपीएल खेलते है और कहते हैं कि बहुत प्रेशर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here