Fatehpur Sikri: अकबर की टकसाल में ढाले जाते थे यहां मुगलकालीन सिक्के, फतेहपुरसीकरी का छिपा इतिहास आएगा पर्यटकों के सामने

1.4kViews

आगरा

मुगल राजधानी रही फतेहपुर सीकरी में घूमने आने वाले पर्यटकों को अब उसके इतिहास के साथ ही वास्तुकला के बारे में भी विश्वसनीय जानकारी मिलेगी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) फतेहपुर सीकरी स्थित मिंट में टूरिस्ट इंटरप्रिटेशन सेंटर का निर्माण कराने जा रहा है। अकबर के मकबरे में भी टूरिस्ट इंटरप्रिटेशन सेंटर बनाया जाएगा। डेढ़ से दो माह में यह बनकर तैयार हो जाएंगे।

मुगल शहंशाह अकबर ने फतेहपुर सीकरी को अपनी राजधानी बनाया था। यह करीब डेढ़ दशक तक मुगल सल्तनत की राजधानी रही। आगरा-जयपुर हाईवे पर होने से यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का बड़ा केंद्र है। स्मारक देखने आने वाले पर्यटकों के साथ अगर गाइड नहीं होता है तो उन्हें स्मारक से जुड़ी उचित जानकारी नहीं मिल पाती है। स्मारक में भ्रमण के बाद पर्यटक के मन में कई जिज्ञासाएं उमड़ती हैं, लेेकिन वह अनुत्तरित रहती हैं। फतेहपुर सीकरी में पर्यटकों की इस दुविधा को दूर करने के लिए एएसआइ टूरिस्ट इंटरप्रिटेशन बनवाने जा रहा है।

मिंट में करीब आठ लाख रुपये की लागत से बनने वाले सेंटर में पुरानी पेंटिंग, फोटोग्राफ, मैप्स व टेक्स्ट के माध्यम से पर्यटकों को स्मारक के इतिहास, वास्तुकला आदि के बारे में जानकारी मिल सकेगी। इसके बोर्ड तैयार कर मिंट में लगाए जाएंगे। बुजुर्ग पर्यटकों की सुविधा को यहां रेस्ट एरिया भी बनेगा। जोधाबाई पैलेस में चलने वाली डाक्यूमेंट्री भी सेंटर में आने वाले पर्यटकों को दिखाया जाया करेगी। इसी तरह का टूरिस्ट इंटरप्रिटेशन सेंटर अकबर के मकबरे में बनाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here