Agra News: आगरा में कोर्ट के गेट पर ही मारपीट, पुलिस के सामने ही भिड़ पड़े अधिवक्ता

1.2kViews

आगरा

दीवानी में शनिवार को जमानती दाखिल करने को लेकर दो अधिवक्ताओं के बीच विवाद हो गया। इसके बाद गेट नंबर तीन पर अधिवक्ताओं से मारपीट हुई। इससे भगदड़ मच गई। मारपीट में अधिवक्ता और उनके जूनियर समेत चार लोग घायल हुए हैं। उन्होंने जानलेवा हमला, बलवा व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

घटना दोपहर तीन बजे की है। दयालबाग के अमर बाग कालोनी निवासी अधिवक्ता ओमवीर सिंह चाहर ने बताया कि चोरी के आरोप में जेल में बंद दो आरोपितों के के जमानती दाखिल करने को लेकर विवाद हुआ था। आरोपितों के पैरोकार पहले एक अधिवक्ता के पास जमानत प्रार्थनापत्र दाखिल करने के लिए गए थे। उन अधिवक्ता की सहमति के बाद ही वे जमानती कोर्ट में दाखिल कराने के लिए उनके पास आए थे। शनिवार को बेटा जूनियर अधिवक्ता दीपक चाहर जमानतदारों के साथ कोर्ट में गया था। कोर्ट परिसर के पास ऋषि चौहान उससे झगड़ने लगा। वहां किसी तरह बीच बचाव करा दिया गया। इसके बाद गेट नंबर तीन पर अधिवक्ता ऋषि चौहान ने अपने पांच साथियों के साथ बेटे पर हमला बोल दिया। बेटे के साथ जितेंद्र चौधरी, गगन यादव, फरमान को भी पीटा। वह बीच-बचाव कराने पहुंचे तो उनके साथ भी मारपीट की गई। इतना ही नहीं भूपेंद्र जाटव बचाने आए तो उनके साथ भी मारपीट और गाली-गलौज की गई। मारपीट में उनके बेटे के सिर की हड्डी टूट गई है। एक अन्य विधि छात्र भी गंभीर रूप से घायल है।

एसओ न्यू आगरा अरविंद निर्वाल ने बताया कि एक पक्ष की तहरीर मिली थी। बलवा और जानलेवा हमले की धारा के तहत मुकदमा लिखा गया है। दूसरे पक्ष से कोई पुलिस के सामने नहीं आया। सीसीटीवी फुटेज चेक कराए जा रहे हैं।

दोपहर तीन बजे दीवानी के गेट नंबर तीन पर अच्छी खासी चहल-पहल थी। मारपीट से वहां भगदड़ मच गई। दीवानी की सुरक्षा में पुलिस कर्मी तैनात रहते हैं। पुलिस के रहते हुए मारपीट हुई। आरोप है कि अधिवक्ता ऋषि चौहान के साथ बाहर के युवक भी आए थे। हालांकि पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है। पुलिस का कहना है कि मारपीट दोनों तरफ से हुई है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here