दोस्ती-प्यार और फिर आत्महत्या, सात जन्मों तक साथ रहने की खाई थी कसम, रेलवे ट्रैक पर एक दूसरे का हाथ थामकर कूदे

- Advertisement -

आगरा

आगरा के सैंया क्षेत्र में रेलवे ट्रैक पर युवक और किशोरी के शव मिलने के बाद गांव में तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं। हकीकत जानने के लिए पुलिस ने स्वजन से बात की, लेकिन उन्होंने प्रेम संबंधों की जानकारी न होने की बात की। ग्रामीणों से बातचीत में पता चला कि दोनों के दो वर्ष से प्रेम संबंध थे। चार दिन पहले जानकारी होने पर स्वजन ने सख्ती कर दी थी। इसके बाद दोनों यह आत्मघाती कदम उठाया।

सैंया के नगला गड़ुआ निवासी 19 वर्षीय नीरज और गांव की ही सजातीय किशोरी का शव एक किलोमीटर दूर रेलवे ट्रैक पर पड़े मिले। रात को दोनों अपने-अपने घरों में सोए थे। तड़के चार बजे वे घर से निकले। स्वजन तलाश कर रहे थे। तब तक रेलवे ट्रैक पर शव पड़े होने की जानकारी मिल गई। इसके बाद गांव में उनके प्रेम संबंधों की चर्चा होने लगी।

ग्रामीणों ने बताया कि दोनों के दो वर्ष पहले से प्रेम संबंध थे। वे छिप-छिपकर मिलते थे। नीरज चार भाई बहनों में तीसरे नंबर का था। वह हाईस्कूल तक पढ़ाई करने के बाद जूते का काम करने लगा था। उसके पिता नवल सिंह रेलवे में गैंगमैन हैं। वहीं किशोरी भाई-बहनों में तीसरे नंबर की थी। उसके पिता मजदूरी करते हैं। इंस्पेक्टर सैंया जितेंद्र सिंह ने बताया कि युवक-युवती के बीच गहरी देास्ती थी

प्रारंभिक छानबीन में पता चला है कि दोनों साथ जीने की कसम खा चुके थे। घरवाले रिश्ते के खिलाफ थे। युवक-युवती को समझाया गया था कि एक ही गांव में शादी नहीं होती है। ऐसा हुआ तो दूसरे इसका विरोध करेंगे। उनका गांव में रहना मुश्किल हो जाएगा। युवती के स्वजन ने उस पर बंदिशें भी लगा दी थीं। इसी के चलते दोनों ने एक साथ जान दे दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here